Hindi English Gujarati Marathi Urdu
नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेशा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 7016137778 / +91 9537658850 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें , PM मोदी की मां हीराबा का 100 साल की उम्र में निधन, अहमदाबाद के अस्पताल में ली अंतिम सांस* – Joshi News

Joshi News

Latest Online Breaking News

PM मोदी की मां हीराबा का 100 साल की उम्र में निधन, अहमदाबाद के अस्पताल में ली अंतिम सांस*

😊 Please Share This News 😊

*PM मोदी की मां हीराबा का 100 साल की उम्र में निधन, अहमदाबाद के अस्पताल में ली अंतिम सांस*

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीरा बा मोदी का शुक्रवार को निधन हो गया। वे 100 साल की थीं। हीरा बा ने अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल में अंतिम सांस ली। हीरा बा को मंगलवार शाम अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पीएम मोदी ने ट्वीट कर मां हीरा बा को श्रद्धांजलि दी।
अपनी मां के निधन पर पीएम मोदी ने ट्विट कर लिखा कि,’शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम… मां में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है’।

बता दें कि, पीएम मोदी की मां हीराबेन को बुधवार के दिन अचानक से तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनको अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पिछले दो दिनों से इनका इलाज चल रहा था। अब आज सुबह हीराबेन का निधन हो गया।

गौरतलब हो कि, हीराबेन ने इसी साल जून के महीने में अपना 100 वां जन्मदिन मनाया है। इसके साथ पीएम मोदी अस्पताल में मिलने से पहले इसी महीने गुजरात चुनाव के मतदान के दौरान अपनी मां से गांधीनगर में मिले थे। मोदी अपनी मां से 18 जून को उनके 100वें जन्मदिन पर मिले थे। हीराबा ने बीते 18 जून को 100 साल पूरे किए। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब 11 और 12 मार्च को दो दिनों के गुजरात दौरे पर थे तो 11 मार्च को रात नौ बजे मां हीराबा से मिलने गांधीनगर पहुंचे थे, जहां उन्होंने उनका आशीर्वाद लिया था। इस दौरान पीएम मोदी ने उनके साथ खिचड़ी खाई थी।

दुमका से जोशी न्यूज़ रिपोर्टर हेमंत स्वर्णकार की रिपोर्ट

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!